Blogger Tips and TricksLatest Tips And TricksBlogger Tricks

शुक्रवार, 8 मार्च 2013

एक किताब में ये पंक्तियाँ पढ़ी


तुझे पा लेने में यह बेताब कैफियत कहाँ
जिंदगी वो  है, जो तेरी जुस्तजू में कट जाये
----------------------------------------------------
तुझको बर्वाद तो होना ही था 'खुमार'
नाज कर कि उसने तुझे बर्वाद किया 
-------------------------------------------------


किस कदर हुस्ने-नजर है तेरे दीवानोंमें
कलियां दामन की सजाई है गरेबानों में
हुस्न को खींच के लाई मुहब्बत की कशिश
आके खुद शमा को जलना पडा परवानों में

सोमवार, 4 मार्च 2013

यह लेख पढ़ मन में परमात्मा के प्रति श्रद्धा द्रवित हो उठी

यह लेख पढ़ मन में परमात्मा के प्रति श्रद्धा द्रवित हो उठी 


right click and open in new window for ZOOM
4 march 2013 city bhaskar bhopal

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...