मंगलवार, 20 अक्तूबर 2015

वैक्यूम के अलावा भी कुछ है।

मान लिजिए यदि पानी वैक्यूम है और वह किसी गोल टब में भरा है और उसमें कोई गेंद डाली जाती है तो उसका कुछ हिस्सा पानी की सतह से उपर होता है। और गेंद गोल—गोल बहुत ही धीमी गति से अपनी ही धुरी पर घू​मती है और साथ ही उस गोल टब के किनारे किनारे चक्कर लगाती है।
यह देखकर मुझे लगता है कि पृथ्वी की उपरी सतह मतलब उत्तरी ध्रुव के उपर कहीं वैक्यूम के अलावा भी कुछ है।
और यदि गेंद पानी में पूरी डूबी होती मतलब यदि पृथ्वी पूरी तरह से वैक्यूम से घिरी होती तो वह इस अंतरिक्ष में बह जाती जैसे एक पूरी डूबी हुई कोई गोल चीज पानी मे पूरी डूबने पर बह जाती है या उसका बॉटम टब के तल को छूता है

1 टिप्पणी:

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...