शुक्रवार, 17 अप्रैल 2015

नेट न्यूट्रेलिटी

आजकल यह मुद्दा छाया हुआ है लोगो की उत्सुकता अभी केवल शब्द का अर्थ समझने तक ही सीमित लग रहा है और विशेषज्ञों का रूख लोगों को इसके बारे में जागरूक करने में है। मेरे ये कहना है कि जबसे डीटूएच टीवी आया है तब से फ्री—टू—एयर चैनल देखने के लिये भी केबल आॅपरेटर्स को भुगतान करना पड़ रहा है। केबल न्यूट्रेलिटी के लिये भी जागरूकता की शुरूआत होनी चाहिये।





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

LinkWithin

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...